RSS

Mosques are not being utilized for community welfare

12 May

मस्जिदों को बस नमाज़ पढ़ने की ही जगह न बनाये।
वहाँ ग़रीबो के खाने का इंतज़ाम हो, डिप्रेशन में उलझे लोगो की काउसंलिंग हो, उनके पारिवारिक मसलों को सुलझाने का इंतज़ागम हो, मदद मांगने वालो की मदद की जाने का इंतेज़ाम हो।
जब दरगाहों पर लंगर चल सकता हैं तो मस्जिदों में क्यों नहीं, और दान करने में मुस्लिमों का कहां कोई मुकाबला है, हम आगे आएंगे तो सब बदलेगा।
मस्जिदों में एक शानदार लाइब्रेरी हो। जहाँ पर इस्लाम की हर किताब के साथ-साथ दूसरे मज़हब की किताबें भी पढ़ने को उपलब्ध हों। ई-लाइब्रेरी भी ज़रूर हो।
बहुत हो गये मार्बल, झूमर, एसी और कालिंदो पर खर्च अब उसे बंद करके कुछ सही जगह पैसा लगाये।
समाज या कौम के पढ़े लिखे लोगों का इस्तेमाल करे।
डॉक्टरों से फ्री इलाज़ के लिए कहें मस्ज़िद में ही कही कोई जगह देकर, वकील, काउंसलर, टीचर आदि को भी मस्जिद में अपना वक्त देने को बोले और यह सुविधा हर धर्म वाले के लिए बिलकुल मुफ्त हो। इसके लिए लगभग सभी लोग तैयार हो जाएंगे, जब दुनिया के सबसे बड़े और सबसे व्यस्त सर्जन डॉ मुहम्मद सुलेमान भी मुफ्त कंसल्टेशन के लिए तैयार रहते हैं, तो आम डॉ या काउंसलर क्यों नही होंगे? ज़रूरत है बस उन्हें मैनेज करने की।

इमाम की तनख्वा ज्यादा रखे ताकि टैलेंटेड लोग आये और समाज को दिशा दें। मदरसों से छोटे छोटे कोर्स भी शुरू करें कुछ कॉररेस्पोंडेंसे से भी हो। ट्रस्ट के शानदार हॉस्पिटल और स्कूल खोले जहाँ सभी को ईमानदारी और बेहतरीन किस्म का इलाज़ और पढ़ने का मौका मिले, बहुत रियायती दर पर इनमे से एक भी सुझाव नया नहीं है, सभी काम 1400 साल पहले मदीना में होते थे…हमने उनको छोड़ा और हम बर्बादी की तरफ बढ़ते चले गए… और जा रहे हैं।
रुके, सोचे और फैसला ले।🤔

🙌🏼 *इस मैसेज को हर मोमनिन तक पहुचाना आप सभी की ज़िम्मेदारी है, लेहाज़ा इसे फारवर्ड करना ना भूले*👏🏼

Advertisements
 
Leave a comment

Posted by on May 12, 2018 in Uncategorized

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: